ताकत अपने लफ़्ज़ों में डालों, आवाज़ में नहीं,

क्योंकि फसल बारिश से उगती है, बाढ़ से नही।

Advertisements